copyright. Powered by Blogger.

ज्वालामुखी

>> Saturday, September 12, 2009


आँखों के समंदर में

ये कैसा तूफां है

खींच ले जाता है

साहिल से

मेरी हर ख्वाहिश को ,


दम तोड़ देती है

हर चाहत

जूझ कर खुद ही

सागर की लहरों के

हर थपेडे को सह कर ।


जज्ब कर लेता है

सिन्धु

अपनी ही गहराई में

देखे - अनदेखे

मेरे हर ख़्वाबों को ।


होती है सिहरन

बस भीगी सी रेत से

और ये रेत भी भीगी है

मेरे अश्कों की धारों से।


शुष्क है मन और

अब आँखें भी खुश्क हैं

न ख्वाहिश है कोई मन में

न ख्वाब आँखों में है।


कोशिश थी मेरी कि

बच जाए महल सपनों का

पर फूटा ऐसा ज्वालामुखी

कि समां गया

सुनामी की बाहों में...

5 comments:

ओम आर्य 9/12/2009 2:16 PM  

कोशिश थी मेरी कि
बच जाए महल सपनों का
पर फूटा ऐसा ज्वालामुखी
कि समां गया
सुनामी की बाहों में...

BHAAWANAO ME DARD HI DARD DIKHATI JAAN PADTI HAI ............MAI TO YAHI KAHUNGA KI BHAGAWAN KARE KI SAPANA DEKHANA AAP CHHODE NAHI..........KYA PATA SUNDAR SA MAHAL FIR SE BAN JAYE.......

महफूज़ अली 9/12/2009 4:22 PM  

शुष्क है मन और
अब आँखें भी खुश्क हैं
न ख्वाहिश है कोई मन में
न ख्वाब आँखों में है।

कोशिश थी मेरी कि
बच जाए महल सपनों का
पर फूटा ऐसा ज्वालामुखी
कि समां गया
सुनामी की बाहों में...


sunaami aayi ....log tabaah huye huye...... manzar dard bhara tha..... toota hua jahan tha....

toote huye jahan ko humne phir joda,
Tinka tinka karke khwaabon ko odha...

odhe huye khwaab huye saakar,,

dekho phir se ek mahal hua taayar.....

Koshish kariye mahal phir banega, chahat phir janm legi.... gahrai phir pategi....khawaabon ke eente se... nahi hogi sihran... kyunki ub bheegi ret ki neenv hogi....


bahut hi achchi kavita....... M touched to the core of ma heart.....


Regards.....

Deepali Sangwan 9/13/2009 10:53 PM  

hila ke rakh diya masi jaan...
wonderful nazm

Anamika 9/22/2009 7:14 PM  

संगीता जी
रचना बहुत अच्छी है...मन को भिगो गयी..
और सुनामी को संभालना भी इंसान के ही हाथ में है..क्युकी पता है न आपको बाढ़ के चले जाने के बाद सिर्फ एक बदबू और कुढे का ढेर ही रह जाता है..समेटने को..

Anonymous,  2/05/2013 5:32 AM  

top [url=http://www.001casino.com/]online casinos[/url] brake the latest [url=http://www.realcazinoz.com/]online casinos[/url] manumitted no consign bonus at the best [url=http://www.baywatchcasino.com/]bay attend casino
[/url].

Post a Comment

आपकी टिप्पणियों का हार्दिक स्वागत है...

आपकी टिप्पणियां नयी उर्जा प्रदान करती हैं...

आभार ...

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

About This Blog

आगंतुक


ip address

  © Blogger template Snowy Winter by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP